Friday, October 23, 2020

कम नहीं हो रहीं अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें, अब रिपब्लिक टीवी के चार पत्रकारों के खिलाफ FIR

कम नहीं हो रहीं अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें, अब रिपब्लिक टीवी के चार पत्रकारों के खिलाफ FIR 




 टीआरपी घोटाला मामले में रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। अब मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के चार पत्रकारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। आरोप है कि वे मुंबई पुलिस को बदनाम कर रहे थे। हालांकि रिपब्लिक टीवी मुंबई पुलिस की कार्रवाई को टारगेटेड अटैक मानता है और उसका कहना है 


कि इन आरोपों को वह झूठा साबित करके दिखाएंगे।
इससे पहले अर्णब गोस्वामी टीवी पर मुंबई पुलिस पर चीखते नजर आए। वह टीवी पर मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह को वन टू वन बात करने की चुनौती दे रहे थे। 

उन्होंने कहा, ‘परमबीर सिंह टीआरपी कांड में फंस गए हैं। मेरे सहयोगियों से सवाल कते हो, मेरे साथ वन टू वन बात करो। जांच करो। लेकिन मेरे खिलाफ अगर गलत आरोप लगाने की कोशिश की, अगर संविधान का उल्लंघन किया या अपनी वर्दी की मर्यादा नहीं रखोगे तो याद रखना, 


मैं क्या पूरा भारत तुम्हें माफ नहीं करेगा।’ मुंबई पुलिस ने धारा 91 के तहत रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क एक नोटिस भी जारी किया था। इस नोटिस में पुलिस ने चैनल के सभी आर्थिक, कॉन्ट्रैक्चुअल डीटेल मांगी थीं। यह जानकारी 22 अक्टूबर को चैनल के वित्तीय अधिकारी को नोटिस जासी करके मांगी थी।


 दरअसल इस बार की टीआरपी में रिपब्लिक टीवी सभी टीवी चैनलों में सबसे ऊपर था। इसपर कई तरह के सवाल भी उठने लगे और मुंबई पुलिस ने टीआरपी स्कैम का आरोप लगाया। सरकार ने भी कुछ हफ्तों के लिए टीआरपी के आंकड़े पर रोक लगा दी है।


 
टीआरपी घोटाले की जांच सीबीआई की टीम कर रही है। टीम ने लखनऊ में पुलिस के दो अधिकारियों से भी पूछताछ की। बता दें कि अर्नब गोस्वामी ने इन आरोपों के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में अर्जी दी है। रिपब्लिक टीवी ने मुंबई पुलिस की एफआईआर को रद्द करने की मांग की है।

No comments:

Post a Comment